Visitors Views 5611

Exit Poll Results 2023 : Madhyapradesh और Rajasthan में BJP तो Chhattisgarh के अधिकांश एग्जिट पोल में कांग्रेस को बढ़त,परिणाम में बागी भी गुल खिलायंगे…

breaking देश मध्यप्रदेश

जनवकालत न्यूज़/ मध्यप्रदेश/राजस्थान/छत्तीसगढ़ |

मध्यप्रदेश में 230 सीटों की विधानसभा में बहुमत का आंकड़ा 116 है। वहीं, छह में से तीन एग्जिट पोल में बीजेपी  की सरकार, एक में कांग्रेस और दो में बराबरी की टक्कर दिख रही है।

न्यूज 24-चाणक्य ने मध्यप्रदेश में बीजेपी को 151 सीटें दी, जबकि कांग्रेस को 74 सीटें। वहीं, अन्य को पांच सीटें मिलती दिख रही हैं। टाइम्स नाउ-ईटीजी के मुताबिक, बीजेपी को 105-117, कांग्रेस को 109-125 और अन्य को 1-5 सीटें मिलने का अनुमान है।

इंडिया टीवी-सीएनएक्स के मुताबिक, बीजेपी को 140-159 सीटें, कांग्रेस को 70-89 और अन्य को 14-18 सीटें मिलने का अनुमान है।

फ़ोटो जन वकालत

जन वकालत के सर्वे अनुसार –

भाजपा को 90 सीटें
कांग्रेस को 117 सीटें
अन्य (बागी ) – 10 सीटें

रिपब्लिक भारत का सर्वे-
भाजपा को 118-130 सीटें
कांग्रेस को 97-107 सीटें
अन्य को दो सीटें

वोट शेयर-
बीजेपी को 43.4 प्रतिशत
कांग्रेस को 41.7 प्रतिशत
अन्य को 14.9 प्रतिशत

रिपब्लिक मैट्रिज के सर्वे के मुताबिक, बीजेपी को 118-130, कांग्रेस को 97-107 और अन्य को दो सीटें मिलने का अनुमान।

टीवी 9 भारतवर्ष-पोलस्ट्रैट के एग्जिट पोल के मुताबिक, मध्यप्रदेश में कांटे की टक्कर होगी। बीजेपी को 106-116 और कांग्रेस को 111-121 सीटें मिल सकती हैं।
‘जन की बात’ के एग्जिट पोल के मुताबिक, मध्यप्रदेश में कांटे का मुकाबला है। कांग्रेस को 102 से 125 सीटें मिलने का अनुमान है। वहीं, बीजेपी को 100 से 123 सीटें मिल सकती हैं। वहीं, अन्य को पांच सीटें मिलेंगी।

इंडिया टूडे- एक्सिस माय इंडिया का एग्जिट पोल

  • भाजपा को 118-130 सीटें
  • कांग्रेस को 97-107 सीटें
  • अन्य को 0-2 सीटें

ये एजेंसी और चैनल कराते हैं सर्वे

  • टुडे चाणक्य
  • एबीपी-सी वोटर
  • न्यूजएक्स-नेता
  • रिपब्लिक-जन की बात
  • सीएसडीएस
  • न्यूज18-आईपीएसओएस
  • इंडिया टुडे-एक्सिस माय इंडिया 
  • टाइम्स नाउ-सीएनएक्स 
  • सीएसडीएस

अब बात करते है Rajasthan Exit Poll की जिसमे नौ में से सात एग्जिट पोल में भाजपा की सरकार, सिर्फ दो में कांग्रेस को मिल रही बढ़त

फ़ोटो जन वकालत

जन वकालत के सर्वे अनुसार –

कांग्रेस – 100

बीजेपी – 90

अन्य (बागी ) – 09

राजस्थान विधानसभा चुनाव के एग्जिट पोल सामने आने के बाद धीरे-धीरे तस्वीर साफ हो होने लगी है। अनुमान के मुताबिक भाजपा बढ़त बनाती दिख रही है। अब किसकी सरकार बनेगी। इस बार रिवाज बदलेगा या कांग्रेस दोबारा सत्ता हासिल करने में कामयाब होगी, ये तो 03 दिसंबर को चुनाव परिणाम आने के बाद ही पता चलेगा।

दैनिक भास्कर के सर्वे के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस को 85-95 सीटें। भाजपा को 98-105 सीटें और अन्य 10-15 सीटें मिलने का अनुमान है।

रिपब्लिक-मैट्रिज के सर्वे के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस को 65-75 सीटें। भाजपा को 115-130 सीटें और अन्य 12-19 सीटें मिलने का अनुमान है।

इंडिया टीवी-सीएनएक्स के सर्वे के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस को 94-104 सीटें। भाजपा को 80-90 सीटें और अन्य 14-18 सीटें मिलने का अनुमान है।

आज तक-एक्सिस माय इंडिया के सर्वे के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस को 86-106 सीटें। भाजपा को 80-100 सीटें और अन्य 9-18 सीटें मिलने का अनुमान है।

टीवी 9 पोलस्ट्रैट के सर्वे के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस को 90-100 सीटें। भाजपा को 100-110 सीटें और अन्य 5-15 सीटें मिलने का अनुमान है।

RJ Exit Poll Result Live: इंडिया टुडे सर्वे

मारवाड़-
भाजपा: 29-33 सीटें
कांग्रेस : 18-20 सीटें
अन्य: 09-11 सीटें

मेवाड़-वागड़-
भाजपा: 26-30 सीटें
कांग्रेस : 10-14 सीटें
अन्य: 02-04 सीटें

मेवाड़-
भाजपा: 26-30 सीटें
कांग्रेस : 10-14 सीटें
अन्य: 02-04 सीटें

राजस्थान में पी मार्क के सर्वे के अनुसार राजस्थान में भाजपा को 105-125 सीटें। कांग्रेस को 69-81 सीटें और अन्य 5-15 सीटें मिलने का अनुमान है।

जन की बात के एग्जिट पोल के अनुसार राजस्थान में कांग्रेस को केवल 62-85 सीटें मिलने का अनुमान है। भाजपा को 100-122 सीटें मिल सकती हैं। अन्य दलों के खाते में 14-15 सीटें जाने का अनुमान है।

टाइम्स नाऊ-ईटीजी के मुताबिक राजस्थान में भाजपा बढ़त में दिख रही है। भाजपा को 110-128 सीटें मिल रहीं हैं तो वहीं कांग्रेस को 56 से 72 सीटें और अन्य 13 से 21 सीटें मिलने का अनुमान है।

अब बात करते है Chhattisgarh Exit Poll की जिसमे अधिकांश एग्जिट पोल में कांग्रेस को बढ़त, 40-50 सीट का अनुमान, BJP देगी टक्कर

फ़ोटो जन वकालत

जनवकालत के सर्वे अनुसार-

कांग्रेस – 46

बीजेपी – 35

अन्य (बागी ) – 09

छत्तीसगढ़ में हुए विधानसभा चुनाव को लेकर एग्जिट पोल आ गए हैं। अधिकांश सर्वे में कांग्रेस को बढ़त का अनुमान है, पार्टी की भाजपा से कांटे की टक्कर है। गौरतलब है कि छत्तीसगढ़ में दो चरणों में 7 नवंबर और 17 नवंबर को मतदान कराए जा चुके हैं। तीन दिसंबर को परिणाम आएंगे।

टाइम्स नाउ-ईटीजी के सर्वे में कांग्रेस बहुमत के करीब-

टाइम्स नाउ-ईटीजी के एग्जिट पोल के अनुमान के मुताबिक कांग्रेस बहुमत के करीब रह सकती है, पार्टी के हिस्से में 48-56 सीटें आ सकती हैं। भाजपा को 32-40 सीटें मिलने का अनुमान है। साथ ही निर्दलीय 2-4 सीटों पर सफल होने में कामयाब हो सकते हैं।
टीवी 9 पोलस्ट्रैट के एग्जिट पोल के अनुसार कांग्रेस को 40-50 सीटें मिल सकती हैं। भाजपा के हिस्से में 35-45 सीटें आ सकती हैं। साथ ही अन्य को 0-3 सीट से संतोष करना पड़ सकता है।
रिपब्लिक-मैट्रिज के एग्जिट पोल के अनुमान के मुताबिक, कांग्रेस को 44-52 सीटें मिलेंगी। भाजपा को 34-42 मिलने के आसार हैं। वहीं निर्दलीय के हिस्से में 0-2 सीटें जा सकती हैं।
न्यूज24-टुडे चाणक्य के एग्जिट पोल के अनुमान के अनुसार कांग्रेस को स्पष्ट बहुमत मिलेगा, पार्टी को 57 सीटें जीतने में सफल होगी। भाजपा को 33 सीटें मिल सकती हैं। जबकि अन्य के खाते में एक भी सीट नहीं जाने का अनुमान है।
एबीपी-सी वोटर के एग्जिट पोल के अनुमान के मुताबिक छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को बहुमत मिलने के आसार है, कांग्रेस को 41-53 सीटें मिल सकती हैं। भाजपा को 36-48 सीटें मिलने का अनुमान है। जबकि अन्य को 0-4 सीटें मिल सकती हैं।
जन की बात के एग्जिट पोल में अनुमान के आधार पर छत्तीसगढ़ में भाजपा को 34-45 सीटें मिल सकती हैं। कांग्रेस को 42-53 सीटें मिलने का अनुमान है। जबकि निर्दलीय के हिस्से में 03 सीटें जा सकती हैं।
इंडिया टीवी सीएनएक्स के एग्जिट पोल अनुमान के मुताबिक, छत्तीसगढ़ में कांग्रेस को 46-56 सीटें मिलने का अनुमान है। भाजपा को 30-40 सीटें मिलने का अनुमान है। अन्य को तीन-पांच सीटें मिलेंगी।
आजतक एक्सिस माई इंडिया के एग्जिट पोल में छत्तीसगढ़ में भाजपा को 36-46 सीटें मिलने का अनुमान है। कांग्रेस को 40-50 सीटें मिल सकती हैं। अन्य को 1-5 सीटें मिलने का अनुमान है। छत्तीसगढ़ में बहुमत का आंकड़ा 46 है। कुल 90 सीटें हैं।
यह जानकारी भी है महत्वपुर्ण-
ओपिनियन पोल और एग्जिट पोल में क्या होता है अंतर-
ओपिनियन पोल चुनाव से पहले करवाए जाते हैं। ओपिनियन पोल में सभी लोगों को शामिल किया जाता है, भले ही वो वोटर हों या न हों। ओपिनियन के रिजल्ट के लिए चुनावी दृष्टि से क्षेत्र के प्रमुख मुद्दों पर जनता की नब्ज को टटोलने का प्रयास किया जाता है। इसके तहत क्षेत्रवार यह जानने की कोशिश की जाती है कि जनता किस बात से नाराज और किस बात से संतुष्ट है।एग्जिट पोल मतदान के तुरंत बाद किया जाता है। एग्जिट पोल में केवल वोटर्स को ही शामिल किया जाता है। मतलब इसमें वही लोग शामिल होते हैं, जो वोट डालकर बाहर निकलते हैं। एग्जिट पोल निर्णायक दौर में होता है। मतलब इससे पता चलता है कि लोगों ने किस पार्टी पर भरोसा जताया है। एग्जिट का प्रसारण मतदान के पूरी तरह से खत्म होने के बाद ही किया जाता है। 

ओपिनियन पोल के बारे में रोचक जानकारी

  • दुनिया में चुनावी सर्वे की शुरुआत सबसे पहले अमेरिका में हुई।
  • जॉर्ज गैलप और क्लॉड रोबिंसन ने अमेरिकी सरकार के कामकाज पर लोगों की राय जानने के लिए ये सर्वे किया था।
  • बाद में ब्रिटेन ने 1937 और फ्रांस ने 1938 में अपने यहां बड़े पैमाने पर पोल सर्वे कराए।
  • इसके बाद जर्मनी, डेनमार्क, बेल्जियम तथा आयरलैंड में चुनाव पूर्व सर्वे कराए गए।

एग्जिट पोल के बारे में रोचक जानकारी

  • एग्जिट पोल की शुरुआत नीदरलैंड के समाजशास्त्री और पूर्व राजनेता मार्सेल वॉन डैम ने की थी।
  • वॉन डैम ने पहली बार 15 फरवरी 1967 को इसका इस्तेमाल किया था। उस समय नीदरलैंड में हुए चुनाव में उनका आकलन बिल्कुल सटीक रहा था। 
  • भारत में एग्जिट पोल की शुरुआत इंडियन इंस्टीच्यूट ऑफ पब्लिक ओपिनियन (आईआईपीयू) के प्रमुख एरिक डी कोस्टा ने की थी।
  • 1996 में एग्जिट पोल सबसे अधिक चर्चा आए। उस समय दूरदर्शन ने सेंटर फॉर द स्टडी ऑफ डेवलपिंग सोसायटीज (सीएसडीएस) को देशभर में एग्जिट पोल कराने के लिए अनुमति दी थी।
  • 1998 में पहली बार टीवी पर एग्जिट पोल का प्रसारण किया गया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Visitors Views 5611