Visitors Views 2519

गजब हैं : 25 हजार लाड़ली बहनें शिवराज मामा के विरोध में दिल्ली में करेगी प्रदर्शन, पीएम मोदी को भी करेगी शिकायत, सवाल यह कि फिर कैसे बनी सरकार….

breaking नज़रिया मध्यप्रदेश

जनवकालत न्यूज़/इंदौर।

इंदौर की लाड़ली बहनाएं विरोध प्रदर्शन के लिए दिल्ली जा रही हैं। इंदौर की आंगनबाड़ी कार्यकर्ताओं और सहायिकाओं ने 11 और 12 दिसंबर को दिल्ली में विरोध प्रदर्शन के लिए जाना शुरू कर दिया है। इसके लिए उन्होंने इंदौर कलेक्टर को आवेदन भी दे दिया है। इस दौरान इंदौर की सभी आंगनबाड़ियां बंद रहेंगी और काम नहीं किया जाएगा। इंदौर समेत मप्र से 25 हजार आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका दिल्ली जा रही हैं। ट्रेन और बसों के माध्यम से दिल्ली पहुंचना शुरू हो गए हैं। दिल्ली में विशाल विरोध प्रदर्शन के लिए इनके साथ देशभर की आंगनबाड़ी कार्यकर्ता और सहायिका पहुंच रही हैं।

आखिर कैसे जीती एमपी में भाजपा सरकार जब लाडली बहनाएं ही कर रही है अपने मामा का विरोध…?

सवाल यह भी कि फिर कैसे बनी सरकार…?

11 और 12 दिसंबर को दिल्ली में होने वाले इस विशाल विरोध प्रदर्शन के बाद अब सवाल यह उठता है कि जब इतनी अधिक मात्रा में लाडली बहनें विरोध कर रही है तो फिर अभी वर्तमान में समाप्त हुए विधानसभा चुनाव में भाजपा को इतनी प्रचण्ड जीत कैसे मिली…? जबकि भाजपा द्वारा लगातार प्रदर्शित किया जा रहा है कि लाडली बहनों ने कर दिया कमाल और लाडली बहना योजना को ही सर्वोच्च प्राथमिकता देते हुए भाजपा ने प्रचण्ड जीत का पूरा श्रेय इस योजना के तहत अपनी लाडली बहनों को दिया है। अब देखना यह होगा कि यह लाडली बहनों की मांगे पीएम नरेंद्र मोदी एवं उनके शिवराज मामा पूरी कर पाते हैं कि नहीं…? 

यह हैं मांगे-
वेतनवृद्धि !
पेंशन !
बीमा !
स्थाई नियमितिकरण !
सामाजिक सुरक्षा !
श्रमिक श्रेणी में मान्यता !

क्यों किया दिल्ली का रुख-
भारतीय मजदूर संघ के बैनर तले हो रहे इस विरोध प्रदर्शन के लिए महीने भर से तैयारियां चल रही हैं। इंदौर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ की अध्यक्ष राजकुमारी गोयल ने बताया कि सभी कर्मचारी खुद को असुरक्षित महसूस करते हैं। लंबे समय से हम मांगों के बारे में बता रहे हैं लेकिन राज्य सरकार ध्यान ही नहीं दे रही है। इसलिए हमने खुद दिल्ली की तरफ रुख किया है। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को हम अपनी मांगों से अवगत करवाएंगे और हमें पूरी उम्मीद है कि हमारी मांगे मान ली जाएंगी।

पीएम मोदी के सामने रखेंगे मांग-
इंदौर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ की अध्यक्ष राजकुमारी गोयल ने बताया कि हम मप्र सरकार से लंबे समय से कई मांग कर रहे हैं। कुछ मांगों पर मप्र में सहमति बनी है लेकिन कई मांगों पर विचार नहीं किया जा रहा। मप्र सरकार को हमारी बात केंद्र तक पहुंचाना चाहिए। चूंकि अब हमारी कहीं सुनवाई नहीं हो रही है तो हम केंद्र सरकार के सामने अपनी मांगें रखेंगे।

भारतीय मजदूर संघ ने की सारी व्यवस्था-
इंदौर से गई आंगनबाड़ी कार्य़कर्ता और सहायिकाओं की पूरी व्यवस्था भारतीय मजदूर संघ ने की है। उनके रुकने, आने जाने की सभी व्यवस्थाएं भारतीय मजदूर संघ और इंदौर आंगनबाड़ी कार्यकर्ता सहायिका संघ देख रहा है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Visitors Views 2519