Visitors Views 144

शहर में नारी शक्ति का मतदाता करेंगे सम्मान…

breaking रतलाम

रतलाम| प्रकाश तंवर

रतलाम शहर विधानसभा से कांग्रेस प्रत्याशी श्रीमती प्रेमलता संजय दवे का मुकाबला श्री चैतन्य काश्यप से है| दोनों की पृष्ठभूमि में कई समानताएं हैं| दवे परिवार सभी धर्मों में आस्था रखते हैं| सनातन धर्म के मानने वाले जो लंबे समय से रतलाम में राजनीति में अपना वर्चस्व चाहते थे | वह भी आंशिक रूप से कांग्रेस से संतुष्ट नजर आ रहे हैं| हालांकि कांग्रेस सिद्धांत तथा अनुसूचित जाति, अनुसूचित जनजाति, अन्य पिछड़ा वर्ग सामान्य जाति सहित धर्मनिरपेक्ष नीति को आज आत्मसात करके लोक कल्याणकारी नीतियों में पूर्ण विश्वास रखती आई है| जिसका फायदा वर्तमान में कांग्रेस को निश्चित रूप से मिलेगा| आज देश एवं प्रदेश में जाति धर्म क्षेत्र के नाम से आमजन को बांटने वाले शातिरों के चेहरे साफ दिखने लगे हैं, मतदाता मौन है | कुछ चरमपंथी आम नागरिकों की भावनाओं की तो ले रहे हैं | रतलाम नगर में युवा हाथ बेकार है| शिक्षितो को शहर से पलायन करना पड़ा है| काम की तलाश में मजदूर से लगाकर  तकनीशियन तक अपने घर परिवार को छोड़ नगर से सैकड़ों किलोमीटर दूर अपना भविष्य तलाशने में लगे हैं| युवा मन भी सपने संजोता है, लेकिन व्यवस्था के आगे घुटनेटिका देता है| आखिर “अच्छे दिन” का जुमला देश प्रदेश में कब सार्थक होगा…? या फिर अच्छे दिन… की आस में महंगाई की मार खाते रहे| अब मतदाता निर्भीक एवं बिना लोभ लालच के मतदान करने को आतुर है|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Visitors Views 144