Visitors Views 157

भागवत गीता सिर्फ एक किताब नहीं है बल्कि जीवन का एक सार है- पंडित विक्रम पुरोहित

रतलाम

 रतलाम |  राकेश शर्मा मामा मोटर 

ऋण मुक्तेश्वर महादेव मंदिर में भगवान गीता का वाचन करते हुए पंडित विक्रम पुरोहित ने कहा भागवत गीता सिर्फ एक किताब नहीं है बल्कि जीवन का एक सार है| आपको अपना कर्तव्य करना चाहिए बाकी सब प्रभु पर छोड़ देना चाहिए एक साधु और बिच्छू की कथा सुनाते हुए उन्होंने कहा कि साधु का कर्तव्य है रक्षा करना और बिच्छू का करते हुए डंक मारना प्रतिदिन साधु नहाने जाते बिच्छू डंक मारता था और साधु उसे अलग करते थे मारते नहीं थे यह दोनों के कार्य अनुरूप था सुबह पूजा में जजमान मोहन बाबू एवं श्रीमती सोलंकी थे आरती के समय मुख्य अतिथि माननीय डीएम रतलाम से राहुल जी थे भागवत कथा में आकर उन्होंने अपने उद्बोधन में कहा से परिसर विकास समिति ने केवल धार्मिक आयोजन करती बल्कि मुझे मालूम पड़ा कि चौकीदार के बेटे के इलाज का सारा खर्चा एवं मशीन प्रोटीन क्लब के सहयोग समिति ने ही लगवाई केरल बाढ़ पीड़ितों की सहायता भी की उन्होंने कहा समिति अध्यक्ष श्री देव मिश्रा के आग्रह पर जब आए तो मालूम पड़ा कि कॉलोनी में जनभागीदारी से काफी काम हुए हैं इस अवसर पर अध्यक्ष श्री देवेंद्र मिश्रा श्रीमती सुषमा मिश्रा कथा प्रभारी विरेंद्र सिंह राठौड़ गिरिराज सिंह राठौड़ दुबे ने बताया कि विक्रम पुरोहित ने सुर और संगीत पर प्रतिदिन महिला आनंदिता नृत्य करती है और आज कृष्ण जन्मोत्सव भी बड़े धूमधाम से मनाया गया रंग गुलाल उड़ाकर सभी भक्तगण में आनंद ही आनंद लिया|

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Visitors Views 157