Visitors Views 153

अन्तरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर किया बुजुर्गों का सम्मान

breaking रतलाम

आत्मीयता की ऊष्मा से सराबोर हुए बुजुर्ग

रतलाम

एक अक्टूबर को रतलाम के विरियाखेड़ी स्थित वृद्धाश्रम में बड़ी चहल-पहल थी। जिला पंचायत अध्यक्ष श्री प्रमेश मईडा, कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान, जिला पंचायत सीईओ श्री सोमेश मिश्रा, अपर कलेक्टर श्री जितेन्द्रसिंह चौहान तथा अन्य व्यक्ति जब बुजुर्गों को गले में मोतियों की माला पहनाकर और श़ाल ओढ़ाकर सम्मानित कर रहे थे, तब इन बुजुर्गों की आंखें खुशी से चमक रही थी। ये बुजुर्ग आत्मीयता की ऊष्मा से सराबोर हो रहे थे। अवसर था एक अक्टूबर अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस का। वृद्धाश्रम के रहवासी बुजुर्गों के लिए यह उत्सवी माहौल था। प्रदर्शन में आए हुए अतिथियों ने इन बुजुर्गों के चरणों को स्पर्श कर इनका आशीर्वाद भी लिया।

अपने संबोधन में अतिथियों ने बुजुर्गों की महत्ता और इनके आशीर्वाद का महत्व समझाया। कलेक्टर श्रीमती रुचिका चौहान ने कहा कि कोशिश तो यह होनी चाहिए कि वृद्धाश्रमों की जरूरत ही नहीं हो, माता-पिता हमारे लिए बहुत कीमती होते हैं। बच्चों को चाहिए कि वह अपने माता-पिता का सदैव ध्यान रखें, हम भूले नहीं कि आज हम जहां भी हैं वह हमारे मां-बाप की प्रार्थनाओं का प्रतिफल है। हमारी भारतीय परंपरा में भी यही बात समझाई गई है, जब हम घर से निकलते हैं और मां-बाप का आशीर्वाद लेते हैं तो वो आशीर्वाद हमें बाहरी दुनिया में संघर्ष करने की ताकत देता है।

जिला पंचायत अध्यक्ष श्री प्रमेश मईड़ा ने भी अपने उद्बोधन में माता-पिता का सदैव आदर करने, उनका हमेशा ध्यान रखने की नसीहत दी। सीईओ जिला पंचायत श्री सोमेश मिश्रा ने अपने उद्बोधन में अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन आयोजन दिवस की अवधारणा एवं उद्देश्य से अवगत कराया। उन्होंने बताया कि बुजुर्गों की मूलभूत जरूरतों की पूर्ति एवं उनके सम्मान के लिए अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस आयोजित किया जा रहा है। माता-पिता द्वारा अपनी संतान के लिए किए जाने वाले जीवन भर के संघर्ष की महत्ता को प्रतिपादित करते हुए श्री मिश्रा ने शेर सुनाए ‘उम्र भर बोझ उठाया उस कील ने और लोग तस्वीर की तारीफ करते रहे’ तथा ‘कंपकपांती उंगलियों में ताकत नहीं थी मेरा सर झुका मां-बाप ने जमाने की ताकत मुझे दे दी।’ संचालन श्री आशीष दशोत्तर ने किया तथा आभार अतिरिक्त सीईओ जिला पंचायत श्री दिनेश वर्मा ने माना।

चार शतायु बुजुर्ग भी सम्मानित हुए-

अंतर्राष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर आयोजित सम्मान समारोह में जिले के चार शतायु बुजुर्ग भी आए थे। सौ वर्ष की आयु पार कर चुके इन बुजुर्गों को कलेक्टर रुचिका चौहान ने शाल-श्रीफल, मोतियों की माला से सम्मानित किया। प्रशासन की ओर से एक हजार रुपए की राशि भी भेंट की। इन बुजुर्गों में फिजाबाई पति नोरान अली, रुक्मणीदेवी पति नाथूलाल, भगवंताबाई पति अंबाराम पाटीदार तथा नंदराम जाट सम्मिलित हैं।

बच्चों सी निश्चल मुस्कुराहट के साथ खेलों में हिस्सा लिया बुजुर्गों ने-

अंतरराष्ट्रीय वृद्धजन दिवस पर महिला बाल विकास विभाग द्वारा वृद्धाश्रम के रहवासी बुजुर्गों के लिए कई प्रकार के खेलों का भी आयोजन किया गया। बुजुर्गों ने उत्साह के साथ बढ़-चढ़कर हिस्सा लिया। खेलों में हिस्सा लेने के दौरान उनके चेहरे पर बच्चों जैसी खुशी और मुस्कुराहट अलग ही नजर आ रही थी। विजेता वृद्धों को कलेक्टर तथा सीईओ ने गिफ्ट पैक देकर सम्मानित किया।

डे केयर सेंटर का उद्घाटन हुआ-

अंतर्राष्ट्रीय दिवस पर विरियाखेड़ी स्थित वृद्धाश्रम में डे केयर सेंटर का भी शुभारंभ किया गया। इस सेंटर पर बुजुर्गों के लिए मनोरंजन, आमोद-प्रमोद की व्यवस्था की गई है। डे केयर सेंटर में दूरदर्शन के सभी चैनलों सहित एलसीडी की व्यवस्था की गई है। इनडोर गेम कैरम, शतरंज, सांप-सीढ़ी, लाइब्रेरी, ज्ञानवर्धक पुस्तकें, समाचार पत्र-पत्रिकाओं की व्यवस्था की गई है। डे केयर सेंटर का संचालन समय प्रातः 10.30 बजे से शाम 5.30 बजे तक रहेगा। इस दौरान शहर के अन्य सभी बुजुर्ग भी आ सकते हैं जो अपने घर पर बैठकर बोरियत महसूस करते हैं या टाइम पास नहीं कर पाते हैं। सेंटर में संगीत एवं भोजन की व्यवस्था भी रहेगी। वाद्य यंत्र भी उपलब्ध कराए गए है, वृद्धजनों के बैठने के लिए टेबल-कुर्सियां तथा अन्य सुविधाओं के साथ साथ शुद्ध पेयजल भी रहेगा। एक और महत्वपूर्ण सुविधा हेल्थ चेकअप की भी रखी गई है, प्रत्येक गुरुवार को प्रातः 11.00 बजे से दोपहर 1.00 बजे तक चिकित्सकों द्वारा वृद्धजनों का फ्री हेल्थ चेकअप किया जाएगा।

इस दौरान श्री महेंद्र गादिया, जिला महिला बाल विकास अधिकारी श्रीमती सुषमा भदौरिया, उप संचालक उद्यानिकी श्री सत्यमसिंह तोमर, उपसंचालक पशु चिकित्सा अधिकारी श्री वी.एस. राणा और पूर्व जिला शिक्षा अधिकारी श्रीमती सुलोचना शर्मा, श्री कीर्ति शर्मा, श्री ओ.पी. श्रीवास्तव, श्री कैलाश जोशी, श्री विश्वबंधु जोशी आदि उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Visitors Views 153