Visitors Views 149

पोषण माह के तहत महिला बाल विकास विभाग द्वारा सेमिनार तथा प्रशिक्षण आयोजित

breaking रतलाम

रतलाम |

पोषण माह के अंतर्गत जिला स्तरीय गतिविधियों के चलते शासकीय कन्या स्नान्कोतर महाविद्यालय व शासकीय कला एवं विज्ञान महाविध्यालय में अध्यापक व छात्र उन्मुखीकरण सेमिनार तथा पर्यवेक्षक व परियोजना अधिकारियों का आंगनवाडी प्रशिक्षण केंद्र, बिरियाखेडी में प्रशिक्षण आयोजित किया गया। महाविद्यालयों के आयोजन में सर्वप्रथम विभाग की पर्येवेशक श्रीमती प्रेरणा तोगडे द्वारा कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डाला. जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती सुषमा भदोरिया द्वारा पोषण अभियान के अंतर्गत आवश्यक पोषण की कमी के कारण, लक्षण व बचाव को किशोरी छात्राओं व अध्यापिकाओं को विस्तार पूर्वक समझाईश दी गयी। समझाईश के दोरान श्रीमती भदोरिया ने Think Global Eat Local के तहत सभी को अपने खान-पान में ज्यादा से ज्यादा स्थानीय उपलब्ध मौसमी सब्जियों व अनाज का उपयोग करने के लिए प्रेरित किया।

दादी नानी की रसोई, भोजन में लिंगभेद, माहवारी, जंकफूड इत्यादी में भोजन सम्बंधित आदतों में परिवर्तन पर जोर दिया। बच्चों को घर में बनने वाले दिन प्रतिदिन के भोजन को ऋतू अनुसार बदल बदल कर उपयोग करने। शासकीय कन्या स्नान्कोतर महाविद्यालय की प्राचार्य श्रीमती मीना हरित द्वारा बच्चों को परम्परागत रूप से बने भोजन, संतुलित आहार व् पोषण सम्बंधित सही आदतों को अपनाने की बात कही गयी।

पोषण माह के अंतर्गत छात्रों के लिए “नारा लेखन“ प्रतियोगिता का आयोजन किया गया। ये प्रतियोगिता जिला स्तर पर आयोजित की जा रही है। कार्यक्रम का समापन सभी छात्रों व् अध्यापक अध्यापिकाओं को पोषण शपथ दिला कर किया गया।

शासकीय कन्या स्नान्कोतर महाविद्यालय कार्यकर्म में प्राचार्य मीना हरित, प्रोफेसर उषा राणावत, प्रोफेसर सुनीता श्रीमाल, प्रोफेसर मंगलेश्वरी जोशी, प्रोफेसर संध्या सक्सेना व् स्वस्थ भारत प्रेरक सुश्री भावना अरोड़ा आदि व् शासकीय कला एवं विज्ञान महाविध्यालय के एनएसएस  के कार्यक्रम अधिकारी डॉ.गोपाल सिंह (वराड़ी), डॉ. धीरज करवाल, डॉ. ललिता मरमट आदि विशेष रूप से उपस्तिथ थे।

पर्यवेक्षक व परियोजना अधिकारिओं पोषण माह कार्यशाला आयोजित की गयी। सर्वप्रथम विभाग की ओर से सूश्री अंकिता पंड्या, सहायक संचालक द्वारा कार्यक्रम की रूपरेखा पर प्रकाश डाला गया। तदुपरांत श्री आशीष पुरोहित ने पोषण माह की समग्र गतिविधयों, थीम व् अपेक्षाओं पर विस्तृत जानकारी दी।

जिला कार्यक्रम अधिकारी श्रीमती सुषमा भदोरिया ने यहाँ भी सभी पर्यवेक्षक व परियोजना अधिकारिओं को प्रोत्साहित करते हुए पोषण सन्देश को आत्मसात करने व जनांदोलन स्तर पर घर घर पहुँचाने की सलाह दी। समझाईश के दोरान श्रीमती भदोरिया ने Think Global Eat Local नारे के प्रचार पर बल दिया।

कार्यशाला में पर्यवेक्षक व् परियोजना अधिकारिओं के लिए न्यूट्री क्विज व् पोष्टिक आहार प्रतयोगिता का आयोजन किया गया। पोष्टिक आहार प्रतयोगिता के विजेताओं को विभाग की तरफ से पुरस्कृत किया गया। कार्यक्रम में पर्यवेक्षक व परियोजना अधिकारी व स्वस्थ भारत प्रेरक, भावना अरोडा उपस्थित थे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Visitors Views 149