Visitors Views 165

होम्योपैथिक चिकित्सा व निवारण-डॉ. तनमय चौहान

स्वास्थ्य

यहां हम आपसे होम्योपैथिक चिकित्सा व उसके माध्यम से ठीक करने वाले प्रकरणों पर चर्चा कर रहे हैं। सबसे पहले समझ लेना चाहिए कि होम्योपैथिक उपचार के लिए कुछ नियमों का पालन होना चाहिए। जैसे कि प्याज, लहसन, हींग और सबसे अधिक परहेज काफी का है। आज हम शुरुआत करते हैं साधारण बीमारी सर्दी जुकाम व बुखार की। तो यदि इस समस्या के साथ यदि मरीज को घबराहट हो तो एकोनाइट की 30 शक्ति की मीठी गोलियों का दिन में 3-4 बार प्रयोग करना चाहिए। हर आकस्मिक उपचार में इस दवा का कोई तोड़ नहीं। इस दवा से बहुत कुछ हासिल हो सकता है। भीड़ का भय तथा पब्लिक में भाषण न देने वाले मरीजों को इससे ठीक किया जा सकता है।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Visitors Views 165